भारत में मंकीपॉक्स से पहली मौत, 22 वर्षीय युवक ने दम तोड़ा।

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

कोरोना महामारी के बाद देश में मंकीपॉक्स का खतरा लगातार बढ़ रहा है। केरल में मंकीपॉक्स से संक्रम‍ित 22 साल के युवक की मौत हुई है। इसे मंकीपॉक्‍स से संक्रम‍ित देश में पहली मौत बताया गया है। युवक संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से लौटा था। शनिवार सुबह त्रिशूर के एक प्राइवेट अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी। दरअसल युवक की रिपोर्ट संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में ही मंकीपॉक्स पॉजिटिव आई थी। उधर, केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया क‍ि युवक की मौत के कारणों की जांच की जाएगी। उसके नमूनों की रिपोर्ट अब तक आई नहीं है। उन्होंने कहा कि मरीज युवा था और उसे कोई और बीमारी या स्वास्थ्य संबंधी कोई दूसरी दिक्कत नहीं थी। स्वास्थ्य विभाग उसकी मौत के कारणों का पता लगा रहा है।

 

 

केरल के त्रिशूर ज‍िले के 22 साल के एक लड़के की शनिवार को मौत हो गई थी। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा, ‘मंकीपॉक्स के लक्षण वाले व्यक्ति की मौत की उच्च स्तरीय जांच कराई जाएगी। उसका विदेश में हुई टेस्ट का रिजल्ट पॉजिटिव निकली। उसने त्रिशूर में इलाज की मांग की थी।’

 

मंत्री ने आगे कहा, ‘इलाज में देरी क्यों हुई, इसकी जांच कराई जाएगी। युवक की मंकीपॉक्स से मौत को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने पुन्नयूर में बैठक बुलाई है। मृतक युवक की संपर्क सूची और रूट मैप तैयार किया गया।’

 

21 जुलाई को आया था भारत

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि त्रिशूर के 22 साल के लड़का 21 जुलाई को भारत पहुंचा था। यूएई छोड़ने से एक दिन पहले उसकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 27 जुलाई को वह अस्पताल में भर्ती हुआ था और यहां परिवार के साथ रह रहा था। उसके नमूनों की फिर से जांच कराई जाएगी।

 

भारत का मंकीपॉक्स का पहला मरीज ठीक हुआ

उधर, केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम के एक सरकारी चिकित्सा महाविद्यालय में भर्ती देश का पहला मंकीपॉक्स का मरीज स्वस्थ हो गया है। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज ने कहा कि चूंकि यह देश में मंकीपॉक्स का पहला मामला था, इसलिए राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान के निर्देशानुसार 72 घंटे के अंतराल पर कोल्लम निवासी मरीज का दो बार परीक्षण किया गया। वीणा जॉर्ज ने कहा, ‘सारे नमूने जांच में निगेटिव पाए गए। मरीज शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ है। उसकी सूजन और गांठ पूरी तरह ठीक हो गई है।’