कृपया ध्यान दें! 1 अगस्त से बदल जाएंगे कई नियम, आपकी जेब पर होगा सीधा असर

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

साल 2022 का जुलाई का महीना खत्म होने को आ गया है. तीन दिनों में नए महीने की शुरुआत हो जाएगी. ऐसे में अगस्त के महीने में कई ऐसे बदलाव किए गए हैं जिसका सीधा असर आपके जेब पर पड़ेगा. अगस्त के महीने में गैस कीमतों में भी बदलाव के अलावा बैंकिंग सिस्टम में भी चेंज किए जा सकते हैं. इसके साथ ही ही इस महीने बैंक की छुट्टियों की जानकारी भी होना जरूरी है. इससे आप अपने जरूरी बैंक संबंधित काम को निपटा लें. हम आपको उन चीजों के बारे में बताते हैं जो आपके आम जिंदगी पर सीधा असर डाल सकती हैं-

 

 

 

बैंक ऑफ बड़ौदा के चेक पेमेंट सिस्टम में हो रहा बदलाव

देश के बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक यानी बैंक ऑफ बड़ौदा के ग्राहकों के लिए काम की खबर है. इस महीने से ग्राहकों को चेक पेमेंट करते वक्त पॉजिटिव पे सिस्टम को फॉलो करना होगा. यह एक ऐसा सिस्टम है, जिसमें 5 लाख रुपये से अधिक का चेक जारी करने पर आपको उसकी डिजिटल जानकारी दर्ज करनी होगी. चेक में आपको SMS , एटीएम, इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) और मोबाइल बैंकिंग (Mobile Banking) के द्वारा बेनेफिशियरी का नाम,अकाउंट नंबर,अमाउंट,चेक नंबर आदि को दर्ज करना होगा. इसके बाद इन सभी जानकारी को क्रॉस वेरीफाई किया जाएगा और उसके बाद ही चेक को क्लियर किया जाएगा. इस पूरे सिस्टम को पॉजिटिव पे सिस्टम (BOB Positive Pay System) कहा जाता है.

 

 

इस महीने 18 दिन बैंक रहेंगे बंद

आपको बता दें कि अगस्त के महीने में कुल 18 दिन बैंक बंद रहेंगे. अगस्त के महीने में मोहर्रम, रक्षा बंधन, स्वतंत्रता दिवस, कृष्ण जन्माष्टमी और गणेश चतुर्थी जैसे कई त्योहार आने वाले हैं. इसके साथ ही शनिवार और रविवार की छुट्टियां भी शामिल हैं. ऐसे में बैंक जाने से पहले एक बार छुट्टियों की लिस्ट को जरूर चेक कर लें. इससे बाद में आपको किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

 

 

LPG की कीमतों में हो सकता है बदलाव

आपको बता दें कि अगस्त के महीने में गैस सिलेंडर (Gas Cylinder Price) के दाम में बदलाव होने की संभावना है. बता दें कि गैस कंपनियां घरेलू और कमर्शियल दोनों तरह के गैस के दाम में बदलाव कर सकती हैं. पिछली बार घरेलू गैस सिलेंडर में 50 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी वहीं कमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम में कटौती की गई थी.