किराना दूकान वाले के यहां GST का छापा। व्यापारियों के यहां हड़कंप।

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

सीजी जीएसटी की टीम ने दुर्ग जिले में एक किराना घर पर छापा मारा है। टीम के वहां पहुंचते ही दुकान प्रबंधकों और कर्मचारियों को जाने से रोक दिया। घंटों बाद, उन्हें एक बिल वाउचर मिला। इसी बीच टीम के अधिकारी भी उस गोदाम में पहुंच गए जहां उन्होंने सामान रखा था। सीजी जीएसटी की इस कार्रवाई से कारोबारी समुदाय में हड़कंप मच गया है।

 

 

 

कई वर्षों के बाद, व्यापारी को सीजी जीएसटी लाल के अधीन किया गया है। रायपुर की टीम शुक्रवार सुबह 8 बजे पावर हाउस मार्केट में कांतिलाल किराना एंड मर्चेंट पहुंची। टीम ने स्टोर मैनेजर से सभी बिल वाउचर जांच के लिए उपलब्ध कराने को कहा। इसके बाद टीम दुकान प्रबंधक के गोदाम पर पहुंची और वहां स्टॉक का निरीक्षण किया.

 

 

टर्नओवर के अनुसार जीएसटी का भुगतान न करने की कार्यवाही

 

खबर लिखे जाने तक टीम जांच कर रही है। इस दौरान टीम ने दूसरे राज्यों से खरीदी गई हर चीज के बिलों की जांच की। बताया जा रहा है कि किराना दुकान का मैनेजर थोक व्यापारी है. साथ ही इसने अपने टर्नओवर जितना जीएसटी भी नहीं वसूला। शिकायत के बाद राज्य से सीजी जीएसटी की टीम जांच के लिए यहां पहुंच गई है।

 

 

 

पावर हाउस मार्केट स्थित कांतिलाल किराना एवं मर्चेंट में जीएसटी रायपुर की टीम ने छापा मारा। जीएसटी टीम ने किराना व्यापारी के सभी बाउचर खंगाले। व्यापारी पर टर्न ओवर के मुताबिक टैक्स जमा नहीं करने का आरोप है। फिलहाल जीेएसटी की टीम दस्तावेजों की जांच कर रही है।

 

दुर्ग जिले में स्टेट जीएसटी की टीम ने शुक्रवार सुबह पावर हाउस स्थित कांतिलाल किराना एवं मर्चेंट में दबिश दी। टीम ने पहुंचते ही दुकान के संचालक और कर्मचारियों को बाहर जाने से रोक दिया था। टीम द्वारा घंटों किराना दुकान का बिल वाउचर को खंगाला गया। इस कार्रवाई से व्यापारी वर्ग में हड़कंप मचा हुआ है।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर से आई टीम शुक्रवार सुबह पावर हाउस मार्केट स्थित कांतिलाल किराना एंड मर्चेंट पहुंची। टीम ने दुकान संचालक को जांच के लिए सभी बिल वाउचर देने को कहा। इसके बाद टीम दुकान संचालक के गोदाम में पहुंची और वहां स्टाक की जांच हुई।