आम आदमी को मिलेगी टोल से राहत, 60 किलोमीटर के अंदर होगा केवल एक टोल प्लाजा, छत्तीसगढ़ के भी लोगो को होगा फायदा, स्थानीय लोगों को मिलेगा पास

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने आम आदमी को टोल टैक्स में राहत देने की बात कहते हुए बताया कि 60 किलोमीटर के अंदर केवल एक ही टोल नाका होना चाहिए. इससे अधिक टोल होने पर उन्हें 3 महीने के अंदर बंद किया जाएगा. इसके साथ ही टोल नाका के करीब रहने वाले लोगों को ‘पास’ जारी किया जाएगा.

 

 

60 किलोमीटर के अंदर होगा एक ही टोल

 

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि 60 किलोमीटर के अंदर एक ही टोल नाका होना चाहिए. 60 किलोमीटर के अंदर एक से अधिक टोल नाका सही नहीं है. अगर 60 किलोमीटर के अंदर कोई टोल नाका पाया जाता है, तो उसे बंद किया जाएगा. इसके लिए उन्होंने 3 महीने का समय दिया है. छत्तीसगढ़ में भी देखा जाए तो रायपुर से सरायपाली जाने तक तीन टोल पड़ते हैं जिसमें  झलप वाले टोल से बसना वाले टोल तक दूरी लगभग 50 55 किलोमीटर है यानी दोनों में से एक टोल बंद होगा।

 

वही रायपुर से बिलासपुर जाने तक दो टोल पड़ते हैं एक तरपोंगी में दूसरा सारा गांव के पास जिनके बीच की दूरी लगभग 55 /60किलोमीटर है। यह टोल भी बंद हो सकता है।

 

नितिन गडकरी ने कहा कि यह बात सही है कि टोल प्लाजा से कमाई होती है, लेकिन इसके लिए लोगों को तकलीफ नहीं होनी चाहिए.

 

 

लोकल लोगों को जारी होंगे पास

इसके साथ ही टोल प्लाजा के आस-पास रहने वाले लोगों को राहत देने के लिए गडकरी ने बताया कि लोकल लोगों के लिए एक पास जारी होगा. इसके लिए उनके आधार कार्ड (Aadhaar Card) का इस्तेमाल किया जाएगा.

 

 

6 एयरबैग किया अनिवार्य

 

 

मंत्री ने बताया कि लोगों की जान बचाने और सड़क सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सभी गाड़ियों में न्यूनतम 6 एयरबैग को अनिवार्य कर दिया. उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री का कहना था कि इससे लागत में इजाफा होगा, लेकिन उन्होंने कहा कि लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हर एक मॉडल में 6 एयरबैग को अनिवार्य कर दिया है.