फटी एड़ियां हैं विटामिन की कमी का संकेत, जानिए किस विटामिन की कमी से स्किन हो जाती है खराब

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

फटे होंठ, फटी एड़ियां और ऐसे ही कई अन्य संकेत होतें हैं जो ये बताते हैं कि हमारे शरीर में विटामिन की कमी के संकेत हैं। जहां कमजोर दांत और हड्डियां विटामिन डी की कमी का संकेत देते हैं, वहीं फटे होंठ और मसूड़ों से खून आना विटामिन बी और विटामिन सी की कमी होना दर्शाता है। जबकि एक असामान्य लेकिन महत्वपूर्ण लक्षण है फटी एड़ियां। जो काफी दर्दनाक और मुश्किलों से भरा होता है, फटी एड़ी सर्दियों में बहुत ही सामान्य हैं जो हवा और शरीर में नमी की कमी के कारण होते हैं। भले ही एड़ी के फटने के कई कारण हों, लेकिन वे विटामिन की कमी का भी संकेत हो सकते हैं।

 

 

 

त्वचा के स्वास्थ्य के लिए विटामिन बी3, सी और ई

विटामिन बी3 त्वचा और दिमाग के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। इसे नियासिन के रूप में भी जाना जाता है, विटामिन बी3 की कमी के लक्षणों में याद्दाश्त में कमी, दस्त, सूजन और जीभ का लाल होना शामिल है। कभी-कभी विटामिन बी3 की कमी से हाथ, पैर, गर्दन आदि जैसे प्रकाश के संपर्क में आने वाले क्षेत्रों में लाल और सूखी पपड़ी जैसी त्वचा हो सकती है।

 

 

 

विटामिन सी

मसूड़े और त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए विटामिन सी की आवश्यकता होती है। विटामिन सी की कमी से स्कर्वी नामक बीमारी हो सकती है जो मुख्य रूप से मसूड़ों से खून आना, बालों के रोम के आसपास रक्तस्राव और इसमें घाव भरने की गति धीमी हो जाती है। बालों का झड़ना, थकान और एनीमिया विटामिन सी की कमी के अन्य लक्षण हैं।

 

विटामिन ई

विटामिन ई प्रतिरक्षा प्रणाली, कोशिकाओं और ब्लड सर्कुलरेशन को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। यह ब्यूटी विटामिन के रूप में भी जाना जाता है, यह त्वचा और बालों की अत्यधिक मदद करता है। शरीर में विटामिन ई की कमी से मांसपेशियों में कमजोरी, संवेदना का नुकसान और ड्राई स्किन, झुर्रियां और समय से पहले बूढ़ा बना सकती हैं।

 

 

फटी एड़ियों का इलाज करें

एड़ियों के फटने का सबसे बड़ा कारण ड्राईनेस बना हुआ है, इसलिए त्वचा की नमी को बनाये रखना महत्वपूर्ण है। अपने पानी का सेवन बढ़ाना खुद को और अपनी त्वचा को हाइड्रेट करने की दिशा में सबसे पहला और सबसे बुनियादी कदम है। इसके अलावा, आपको अपनी त्वचा को स्पंज से एक्सफोलिएट करना चाहिए और मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने के लिए यूरिया या लैक्टिक एसिड युक्त क्रीम लगाना चाहिए। लोशन, क्रीम, फुट क्रीम और नियमित रूप से मोज़े पहनने से त्वचा को हाइड्रेट रखने में मदद मिल सकती है। आप उन उत्पादों का भी उपयोग कर सकते हैं जो विशेष रूप से एड़ी की त्वचा के लिए डिज़ाइन किए गए हैं और उपचार की प्रक्रिया को तेज करने के लिए उन्हें हर दिन रात के समय में लगा सकते हैं।