भारत के जगदीप को मिली ₹17,500 करोड़ की सैलरी, दुनिया के तमाम CEO को छोड़ा पीछे

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

दुनिया की ऐसी बहुत सी फेमस कंपनियां हैं जिनमें भारतीय मूल के कई लोग सीईओ के पद पर हैं। कुछ दिनों पहले ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल काफी चर्चा में थे। अब एक और भारतीय मूल के शख्स खूब सुर्खियों में हैं और इनकी चर्चा किसी नए इन्वेंशन या किसी और चीज को लेकर नहीं बल्कि इनकी सैलरी है। इनकी सैलरी के बारे में सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। बड़ी बड़ी कंपनी के सीईओ भी इनकी सैलरी को सुनकर हैरान हो गए थे। बता दें कि इस शख्स को बैटरी बनाने वाली एक स्टार्टअप कंपनी ने सालाना 17,500 करोड़ रुपये का पैकेज दिया है।

 

भारतीय मूल के इस शख्स का नाम जगदीप सिंह हैं। अपने सैलरी पैकेज को लेकर वह दुनियाभर में चर्चा में आ गए हैं। आश्चर्य की बात तो यह है कि उनका पैकेज दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शुमार एलन मस्क को टक्कर देता है।

 

 

दुनियाभर की दिग्गज कंपनियों के सीईओ भी जगदीप सिंह की सैलरी पैकेज के बारे में जानकर बहुत हैरान हैं। जगदीप सिंह की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया है। इसके अलावा यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया से MBA और यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड कॉलेज (University of Maryland College) से कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई की है।

 

बता दें कि भारतीय मूल के जगदीप सिंह अमेरिकी स्टार्टअप कंपनी QuantumScape Corp के सीईओ हैं। 17,500 करोड़ रुपये का मोटा पैकेज कंपनी की तरफ से इन्हें देने का ऐलान किया गया है। एक साल पहले ही यह कंपनी दुनिया के सामने आई है। कंपनी के शेयरहोल्डर्स की सालाना बैठक में जगदीप सिंह को इतने बड़े पैकेज की मंजूरी दी गई है।

 

 

कई कंपनियों के रह चुके हैं सीईओ

 

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार जगदीप सिंह QuantumScape Corp कंपनी के फाउंडर भी हैं। साल 2001 से साल 2009 तक वह Infinera के सीईओ भी रह चुके हैं। साल 2001 से पहले वह lightera Networks, AirSoft जैसी कंपनियों के भी फाउंडर और सीईओ रह चुके हैं। साल 2010 में उन्होंने QuantumScape Corp की नींव रखी थी।

 

 

अरबों डॉलर में है कंपनी की वैल्यू

 

बता दें कि जगदीप की कंपनी में वॉक्सवैगन और बिल गेट्स के वेंचर फंड ने भी निवेश किया है। कंपनी की वैल्यू अभी 50 अरब डॉलर की है। यह कंपनी अगली पीढ़ी की तकनीक पर फोकस कर रही है।

 

 

इससे दुनियाभर में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को अपनाया जा सकेगा। जगदीप सिंह की कंपनी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स बनाने वाली कंपनियों लीथियम-आयन बैटरी का सुरक्षित तथा सस्ता विकल्प देने पर भी फोकस कर रही है।