आपकी ये 5 आदतें फेफड़ों को हमेशा हेल्दी और मजबूत रखने में आती हैं काम, आज से ही अपनाएं

IMG-20201021-WA0005

Healthy Habits For Lungs: लंग्स यानि कि फेफड़े हमारे श्वसन तंत्र का एक बहुत ही अहम हिस्सा हैं. हाल ही कोरोना महामारी में भी कोविड के वायरस ने सीधे इंसान के फेफड़ों पर ही अटैक किया है. ऐसे में जरूरी है कि हम अपने फेफड़ों की सेहत का विशेष ख्याल रखें. आइए हम जानते हैं कि फेफड़ों की तंदुरुस्ती के लिए क्या जरूरी है. दरअसल, फेफड़ों को स्वस्थ रखना है तो सही खानपान के साथ ही अपनी लाइफस्टाइल में कुछ एक बदलाव करना बहुत ही जरूरी है. जानिए ऐसी कौन सी आदतें हैं जो हमारे फेफड़ों को स्वस्थ और मजबूत बनाती हैं.

 

 

 

 

फेफड़ों को बीमारियों से बचाने के तरीके | Ways To Protect The Lungs From Diseases

1. गहरी सांस लें

विशेषज्ञों का मानना है कि 2 से 5 मिनट तक गहरी सांस लेने से फेफड़ों की क्षमता काफी हद तक बढ़ जाती है. डीप ब्रिदिंग से फेफड़ों को साफ रखने में भी सहायता मिलती है और हमारा शरीर पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन ले पाता है.

 

2. खूब हंसें

हंसने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है ये बात तो हम सभी जानते हैं. हंसना एक बेहतरीन व्यायाम भी है. हम खुल कर हंसते हैं तो हमारे फेफड़ों में ताजी हवा प्रवेश करती है, ये फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाती है.

 

3. स्मोकिंग से रहें दूर

फेफड़ों को स्वस्थ रखना है तो स्मोकिंग से दूरी बनाए रखें. अगर आप सिगरेट पीते हैं तो आप अपने फेफड़ों में निकोटीन, कार्बन मोनोऑक्साइड और टार सहित सैकड़ों ऐसे रसायनों को अंदर लेते हैं. सिगरेट पीने से फेफड़े के ऊतकों में सूजन होने लगती है और इसकी क्षमता कम होने लगती है. वहीं घातक रसायन बलगम बनाते हैं और बीमारियों को न्योता देते हैं. धीरे-धीरे सांस लेने वाली नली संकरी होने का खतरा बढ़ जाता है और सांस लेने में दिक्कत होने लगती है.

 

4. हाई फाइबर फूड

फेफड़ों को मजबूत रखने के लिए फाइबर से भरपूर फूड आइटम्स को अपनी डाइट में शामिल करें. आप चिया सिड्स, नाशपाती, ब्रोकली आदि खाने की आदत बनाएं. ये सारी चीजें लंग्स को मजबूत रखने में सहायता करती हैं.

 

5. हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी और पत्तेदार सब्जियों में कैरोटीनॉयड और एंटीऑक्सीडेंट होता है जिससे हमारे लंग्स मजबूत होते हैं. हरी सब्जियां हमारे शरीर के दूसरे अंगों को भी लाभ पहुंचाती हैं. इनसे आंखों की रोशनी बढ़ती है और पाचन भी ठीक रहता है.