आज रात 8:27 मिनट तक है शरद पूर्णिमा का मुहूर्त, ऐसे करें पूजा

IMG-20201021-WA0005

अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा (Sharad Purnima)कहते हैं. आज के दिन लक्ष्मी माता की पूजा की जाती है. आज की रात चंद्रमा की किरणें अमृत के समान मानी जाती है. इस रात चंद्रमा सोलह कलाओं से परिपूर्ण होता है. वैसे तो शरद पूर्णिमा 19 अक्टूबर, मंगलवार थी, लेकिन इस साल पंचांग भेद होने के कारण दो दिन तक मनाई जा रही है. कई जगहों पर पूर्णिमा व्रत 20 अक्टूबर यानी आज रखा जा रहा है.

ऐसे करें पूजन

आज के दिन सुबह उठकर व्रत का संकल्प करें, इसके बाद पवित्र नदी या कुंड में स्नान संभव हो तो करें वरना घर में ही स्नान कर, साफ कपड़े पहने. स्वच्छ वस्त्र धारण करने के बाद अपने ईष्टदेव की अराधना करें. पूजा के दौरान भगवान को सुगंध, अक्षत, तांबूल, दीप, पुष्प, धूप,सुपारी और दक्षिणा चढ़ाएं.

 

रात में बनाएं खीर

रात के समय गाय के दूध से खीर बनाएं और चांदी या मिट्टी के बर्तन में चांद की रोशनी में रखकर उसे दूसरे दिन प्रसाद के तौर पर बांटे व खाएं.

 

 

शरद पूर्णिमा शुभ मुहूर्त

शरद पूर्णिमा 19 अक्टूबर 6 बजकर 44 मिनट से शुरू होकर 20 अक्टूबर शाम 8 बजकर 26 मिनट तक समाप्त होगी. उदया तिथि के हिसाब से शरद पूर्णिमा मनाने वाले लोग 20 अक्टूबर को पूजा व व्रत कर सकते हैं.