अखरोट को क्यों कहा जाता है ‘ब्रेन फूड’? जानिये इसके हैरान करने वाले फायदे

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

अखरोट को दिमाग के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसे ‘ब्रेन फूड’ भी कहते हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक ये दिमाग के तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाने में बेहद कारगर है। इसमें कई तरह के विटामिन्स तो पाए ही जाते हैं। साथ ही कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, प्रोटीन और आयरन भी पाया जाता है, जो शरीर के लिए बेहद जरूरी हैं। अखरोट की एक खास विशेषता इसमें पाया जाने वाला ओमेगा-3 फैटी एसिड है, जो कई तरह के न्यूरो प्रॉब्लम्स से निपटने में कारगर साबित होता है। इसे एक तरह से सेहत का खजाना भी कह सकते हैं।

विशेषज्ञ कहते हैं कि डायबिटीज के रोगियों के लिए अखरोट बेहद लाभकारी है। रोजाना रात में अखरोट को भिगोकर रख दें और सुबह इसका सेवन करें तो डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। अखरोट की विशेषता और इसके फायदों के बारे में पोषण विशेषज्ञ लवनीत बत्रा कहती हैं, ‘अपनी सुबह की शुरुआत नट्स के साथ करें, इससे दिनभर शरीर में एनर्जी बनी रहती है।’

 

क्यों रामबाण माना गया है अखरोट? लवनीत बत्रा कहती हैं कि आपका पूरा दिन कैसा जाएगा, यह इसपर निर्भर करता है कि आपकी सुबह की शुरुआत कैसी रही है। एक अच्छे दिन के लिए अपनी सुबह की शुरुआत खुशनुमा माहौल में करें। हेल्दी नाश्ता लें। मैं सुबह की शुरुआत नट्स के साथ करना पसंद करती हूं, क्योंकि ये मेरे शरीर में उन तत्वों को बढ़ावा देते हैं, जिनकी दिनभर जरूरत रहती है। बत्रा कहती हैं कि यदि मैं सरल शब्दों में कहूं तो सुबह-सुबह हैवी भोजन की जगह दिन की शुरुआत ऐसे खाद्य पदार्थों से करें जो हल्के लेकिन पौष्टिक हों।

 

भीगे हुए अखरोट के हैं तमाम फायदे: अखरोट को सभी सूखे मेवे यानी ड्राई फ्रूट्स का राजा भी कहा जाता है, क्योंकि ये एंटीऑक्सिडेंट, प्रोटीन और स्वस्थ वसा से भरपूर होता है। इसके अलावा अखरोट कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, कॉपर और जिंक का भी एक अच्छा स्रोत हैं। भीगे हुए अखरोट खाने से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है, ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहता है और वजन कम करने में भी मदद मिलती है।

 

बादाम भी है बेहद कारगर: बादाम भी सर्वगुण संपन्न भोजन की श्रेणी में आता है। यदि सुबह इसका सेवन किया जाए तो यह आपकी याददाश्त को बढ़ा सकता है। साथ ही पाचन में सुधार करने में सहायक साबित होता है और कोलेस्ट्रॉल को भी कम कर सकता है। क्योंकि यह प्रोटीन, विटामिन ई और मैग्नीशियम से भरपूर होता है। हां, भीगे हुए बादाम ज्यादा बेहतर होते हैं।

 

नोट: इस लेख का उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है। स्वास्थ्य या किसी चिकित्सीय स्थिति के संबंध में अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।