राजधानी रायपुर के सबसे बडे़ अस्पताल में महिला ने की बाथरूम मे खुदखुसी, फांसी के फंदे पर लटकती मिली लाश।

IMG-20201021-WA0005

प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में एक महिला मरीज ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने उसकी लाश अस्पताल के वार्ड नंबर 10 से बरामद किया है। मौत कारण घरेलू विवाद बताया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार अंबेडकर अस्पताल में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक महिला की लाश वार्ड नंबर 10 में फांसी के फंदे पर झूलते हुए देखा। मरीजों ने अस्पताल कर्मचारियों को इसकी सूचना दी। वहीं अस्पताल प्रबंधक ने महिला के सुसाइड की सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद मौके पर मौदहापारा पुलिस पहुंची।

 

 

पुलिस ने शव को फांसी के फंदे से नीचे उतारकर पीएम के लिए भेजा। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि महिला ने घरेलू विवाद के चलते खुदकुशी की है। महिला ने जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की थी। वहीं अस्पताल में भर्ती होने के बाद अब फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

 

रायपुर के मेकाहारा अस्पताल में आज सुबह महिला मरीज़ सुनीता धीवर पति मोहन धीवर उम्र 45 वर्ष निवासी मंदिर हसौद ने फंदे से झूल आत्महत्या कर ली।

 

बताया जा रहा है कि महिला आज डिस्चार्ज होने वाली थी परंतु सुबह तकरीबन 5 बजे वार्ड 10 के बाथरूम में वह साड़ी के फंदे में झूली पाई गई। सूत्रों ने बताया कि महिला के घर में बेटी से विवाद के बाद महिला ने जहर का सेवन किया था जिसके बाद उसे आरंग स्थित अस्पताल में इलाज़ के लिए ले जाया गया जहाँ से उसे मेकाहारा अस्पताल रिफर किया गया।