कल 1 जुलाई से बदल जाएंगे यह 5 नियम, आम आदमी की जेब पर पड़ेगा असर

जून का महीना आज खत्म हो जाएगा। वहीं जुलाई के शुरू होने के साथ ही आम आदमी की जिंदगी से जुड़े कई नियम बदल जाएंगे। जिसका असर सीधा आपकी जेब पर पड़ेगा है। ऐसा इसलिए क्योंकि देश में जिस तरह से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ रहे हैं, इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि कई चीजों के दामों में बढ़ोतरी हो सकती हैं। हालांकि कुछ-कुछ सेवाओं में राहत की उम्मीद है।

 

इसके आलवा SBI बैंक के ATM से पैसा निकालने और चेक को लेकर नियम बदलने वालें हैं। बात करें रसोई गैस की तो मालूम होगा कि हर महीने की पहली तारीख में गैस की नई कीमत जारी होती हैं। संभावना जताई जा रही है कि एक बार फिर लोगों को गैस के दामों में बढ़ोतरी हो सकती है। चलिए आपको बताते हैं 1 जुलाई से किन किन सेवाओं में बदलाव के आसार है।

 

 

1. इनकम टैक्स

अगर आप अभी तक आयकर रिटर्न नहीं भर पाएं हैं, तो इसे जल्द से जल्द भर दीजिए। इनकम टैक्स के नियमों के मुताबिक अगर आपने 30 जून तक रिटर्न नहीं भरा तो 1 जुलाई से आपको डबल TDS चुकाना पड़ेगा। यही कारण है कि इस नियम के कारण ITR फाइल करने के लिए दोबारा मौका दिया है। ITR फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई होती है लेकिन यह तारीख 30 सितंबर तक बढ़ा दी गई है।

 

2. SBI के बदलेंगे नियम

देश का सबसे बड़ा पब्लिक सेक्टर बैंक एसबीआई अपने एटीएम से पैसा निकालने, बैंक ब्रांच से पैसा निकालने और चेकबुक को लेकर नियमों में बदलाव करने वाला है। ये नये नियम अगले महीने से 1 जुलाई से लागू हो जाएंगे। एसबीआई बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट अकाउंट खाताधारकों के लिए हर महीने चार मुफ्त नकद निकासी उपलब्ध होगी। जिसमें एटीएम और बैंक शाखाएं शामिल हैं। बैंक फ्री लिमिट के बाद हर ट्रांजैक्शन पर 15 रुपये प्लस जीएसटी चार्ज करेगा। नकद निकासी पर शुल्क होम ब्रांच और एटीएम और गैर-एसबीआई एटीएम पर लागू होगा।

 

3. रसोई गैस की कीमतें

1 जुलाई को LPG सिलेंडर यानी रसोई गैस की नई कीमतें जारी होंगी. हर महीने की पहली तारीख को ऑयल कंपनियां रसोई गैस की कीमतें तय करती हैं। जुलाई में दखना होगा की कंपनियां रसोई गैस और कमर्शियल सिलेंडर की कीमतें बढ़ाती है या नहीं।

 

4. केनरा बैंक का IFSC code

केनारा बैंक 1 जुलाई 2021 से सिंडीकेट बैंक का आईएफएससी कोड बदलने जा रहा है। सिंडीकेट बैंक के सभी कस्टमर को अपने ब्रांच से अपडेटेडे आईएफसी कोड के विषय में जानकारी लेने के लिए कहा गया है। केनारा बैंक की तरफ से कहा गया है कि सिंडीकेट बैंक के विलय के बाद सभी ब्रांच के आईएफसी कोड में बदलाव किया गया है। बैंक ने ग्राहकों को कहा है कि IFSC code को अपडेट कर लें, नहीं तो 1 जुलाई से NEFT, RTGS और IMPS जैसी सुविधाओं का लाभ नहीं मिलेगा।

 

5. चेक बुक शुल्क

1. एसबीआई BSBD अकाउंट होल्डर्स को एक फाइनेंशियर ईयर में 10 चेक की कॉपी मिलती है। अब 10 चेक वाली चेकबुक पर चार्जेंस देने होंगे। 10 चेक के पत्तों के लिए बैंक 40 रुपये और जीएसटी चार्ज करेगा।

2. 25 चेक लीव के लिए बैंक 75 रुपये और जीएसटी चार्ज करेगा।

3. इमरजेंसी चेक बुक पर 10 पत्तों के लिए 50 रुपये और जीएसटी लगेगा।

4. वरिष्ठ नागरिकों को चेक बुक पर नए सेवा शुल्क से छूट दी जाएगी।

5. बैंक बीबीएसडी खाताधारकों द्वारा घर और अपनी या अन्य बैंक ब्रांच से पैसा निकालने पर शुल्क नहीं होगा।