छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस से पहली मौत, 15 और मरीज जानिए क्या होता है ब्लैक फंगस।

IMG-20210828-WA0014
IMG-20210828-WA0016
IMG-20210828-WA0017
C1FECB16-374E-4F72-88E4-3B97BA9DA4B7
previous arrow
next arrow

 

 

कोरोना संक्रमण ने सबको झकझोर कर रखा हुआ है। संक्रम‍ित होने और मौत का सिलसिला अब भी जारी है। जनता कराह रही है। इसी बीच एक और बुरी खबर सामने आ गई। छत्‍तीसगढ़ में ब्‍लैक फंगस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है

छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस ने अपनी दस्तक दे दी है. रायपुर एम्स में 15 मरीजों का इलाज चल रहा है. ज्यादातर मरीजों की आंखों में इंन्फेक्शन फैला है. रायपुर एम्स प्रबंधन ने पुष्टि की है।

 

छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस से एक युवक की मौत हो गई है। ब्लैक फंगस का मामला सामने आने के बाद इस पहली मौत की खबर ने स्वास्थ्य महकमे की चिंता अब और बढ़ा दी है। भिलाई के सेक्टर 9 अस्पताल में भर्ती युवक ने उपचार के दौरान डैम तोड़ दिया ।

 

बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले युवक कोरोना से संक्रमित हुआ था। वहीं इलाज के बाद ब्लैक फंगस से संक्रमित हो गया। मौत की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। इसके बाद अब दुर्ग CMHO ने सभी निजी अस्पतालों को अलर्ट किया है।

 

कोरोना मरीजों में फंगल इन्फेक्शन, जिसे ‘ब्लैक फंगल इन्फेक्शन’ कहा जा रहा है, के मामले बढ़ रहे हैं. इस इंफेक्शन से सबसे बड़ा डर ये है कि ये तेजी फैलता है और लोगों के आंखों की रोशनी चली जाती है या कुछ अंग काम करना बंद कर देते हैं. लेकिन यह ‘ब्लैक फंगल इनफेक्शन’ या Mucormycosis रहस्यमई नहीं है. यह केवल बहुत दुर्लभ था.

Mucormycosis क्या है?

 

US सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन(CDS) के अनुसार Mucormycosis एक गंभीर लेकिन दुर्लभ फंगल इंफेक्शन है जो के Moulds के एक ग्रुप, जिसे micromycetes कहते हैं, के कारण होता है।

यह फंगस हमारे चारों ओर मुक्त रूप में मौजूद होता है लेकिन किसी के शरीर के अंदर इन्फेक्शन को संभव बनाने के लिए इसे एक विशेष इन्वायरमेंट की जरूरत होती है. यह समान्यतः नाक ,साइनस ,आंखों में या दिमाग में पाया जाता है.”

डॉ. अर्पणा महाजन ,कंसलटेंट और ENT,फोर्टिस,फरीदाबाद

 

 

उन्होंने कहा कि “अगर यह एक बार दिमाग में फैल गया तो इसका इलाज बहुत कठिन है”।