सेहत- अगर आप भी हैं हाई बी पी के मरीज तो अलविदा कहें इन तीन चीजों को।


Diet Tips for High BP Patients: जब रक्त धमनियों यानी ब्लड वेसल्स पर दबाव ज्यादा हो जाता है तो हाई बीपी की परेशानी हो जाती है। इसे हाइपरटेंशन, उच्च रक्तचाप और हाई ब्लड प्रेशर भी कहते हैं। खराब लाइफस्टाइल, अनहेल्दी डाइट, स्ट्रेस और वर्क प्रेशर बीपी बढ़ने के मुख्य कारणों में शामिल हैं। बता दें कि हाई बीपी के मरीजों को हार्ट अटैक का खतरा अधिक होता है। ऐसे में जिन लोगों के ब्लड प्रेशर का स्तर 120/80 mmHg से ज्‍यादा रहता है, उन्हें डॉक्टर से अवश्य सलाह लेनी चाहिए। साथ ही, अपनी डाइट में भी कुछ जरूरी बदलाव करना चाहिए।


कॉफी: कैफीन युक्त ड्रिंक्स उच्च रक्तचाप के मरीजों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इसलिए इन मरीजों को ज्यादा चाय-कॉफी पीने से बचना चाहिए। साथ ही, कॉफी रक्तचाप के स्तर को बढ़ाने का कार्य भी करता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि जो लोग अधिक कॉफी पीते हैं, उनमें स्ट्रेस लेवल बढ़ता है जिससे बीपी अनियंत्रित हो सकती है। बता दें कि लगातार कॉफी पीने से शरीर में कार्टिसोल हार्मोन इर्रेगुलर हो जाता है जिससे लोगों में तनाव पैदा होता है।

 


नमक और सोडियम: बीपी के मरीजों को कम नमक खाने की सलाह दी जाती है। जिन फूड्स में नमक या सोडियम की अधिकता होती है, उन्हें खाने से बचना चाहिए। पैकेज्ड और प्रोसेस्ड फूड्स जैसे कि अचार, चिप्स में ही सोडियम की मात्रा अधिक होती है, इनसे भी परहेज करना चाहिए।

टोमैटो सॉस: टमाटर से बने पैकेट बंद उत्पाद जैसे कि टोमैटो सॉस और टोमैटो सूप बीपी के मरीजों के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। इन प्रोडक्ट्स में सोडियम की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जो मरीजों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

इन चीजों का सेवन होगा फायदेमंद: हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए सबसे जरूरी है कि वो अपनी डाइट में पोटैशियम युक्त आहार शामिल करें। पोटैशियम युक्त भोजन के सेवन से शरीर में ब्लड प्रेशर का लेवन नियंत्रित रहता है। केला में प्रचुर मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है। वहीं, पालक, गोभी, बथुआ जैसी हरी व पत्तेदार सब्ज‍ियां खाना भी फायदेमंद होगा। इसके अलावा, खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए कम से 8 गिलास पानी पीयें।

Leave a Reply