सेहत- बस इक लौंग खाइए और पाइए इन सारी समस्याओं से छुटकारा, जाने किस किस समस्याओं से मिलेगा छुटकारा।

IMG-20210828-WA0014
IMG-20210828-WA0016
IMG-20210828-WA0017
C1FECB16-374E-4F72-88E4-3B97BA9DA4B7
previous arrow
next arrow

अगर ठंड के मौसम में आप सर्दी-जुकाम से परेशान है, तो लौंग का उपयोग जरूर करें. छोटी सी लौंग को अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके कई फायदे भी हैं. साधारण से सर्दी-जुकाम से लेकर कैंसर जैसे गंभीर रोग के उपचार में लौंग का इस्तेमाल किया जाता है. इसके गुण कुछ ऐसे हैं कि न सिर्फ आयुर्वेद बल्कि होम्योपैथ व एलोपैथ जैसी चिकित्सा विधाओं में भी इसका बहुत अधिक महत्व है. आइए जानते हैं लौंग के फायदों के बारे में…


सर्दी-जुकाम में लाभदायक
सर्दी जुकाम होने पर एक-दो लौंग को मुंह में डालकर हल्का चबाते हुए उससे निकलने वाले रस को चूसे. इससे सर्दी के साथ गले की खराश और दर्द में भी आराम मिलता है. साथ ही सूखी खांसी में भी लौंग फायदेमंद होती है.


डाइजेशन में फायदेमंद
भोजन में लौंग का इस्तेमाल करने से कई पाचन संबंधी समस्याओं में आराम मिलता है. इसमें मौजूद तत्व अपच, गैस्ट्रिक, डायरिया आदि समस्याओं से निजात दिलाने में फायदेमंद है.


कैंसर को रोकने में मददगार
शोधकर्ताओं का मानना है कि लौंग के इस्तेमाल से फेफड़े के कैंसर और त्वचा के कैंसर को भी रोकने में काफी मदद मिल सकती है. इसमें मौजूद युजेनॉल नामक तत्व इस दिशा में काफी फायदेमंद है.

भोजन में फायदेमंद
मसाले के रूप में लौंग का इस्तेमाल शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसमें प्रोटीम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट्स, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, सोडियम और हाइड्रोक्लोरिक एसिड भरपूर मात्रा में मिलते हैं. इसमें विटामिन A और C, मैग्नीज और फाइबर भी पाया जाता है.

दांतों के दर्द में लाभदायक
लौंग एक बेहतरीन नेचुरल पेनकिलर है. इसमें मौजूद यूजेनॉल ऑयल दांतों के दर्द से आराम दिलाने में बहुत फायदेमंद है. दांतो में कितना भी दर्द हो, लौंग के तेल इस्तेमाल करने से दर्द ठीक हो जाता है. इसके अलावा इसमें एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जिसके कारण इसका इस्तेमाल टूथपेस्ट, माउथवाश और क्रीम बनाने में भी किया जाता है.


गठिया में आराम
गठिया रोग में जोड़ों में होने वाले दर्द व सूजन से आराम के लिए भी लौंग बहुत लाभदायक है. इसमें फ्लेवोनॉयड्स अधिक मात्रा में पाया जाता है. कई एक्सपर्ट्स गठिया के इलाज के लिए लौंग के तेल की मालिश करने को कहते हैं.


श्वास संबंधी रोगों में आराम
लौंग के तेल का अरोमा इतना स्ट्रॉंग होता है कि इसे सूंघने से जुकाम, कफ, दमा, ब्रोंकाइटिस, आदि श्वास संबंधी समस्याओं में फौरन आराम मिल जाता है.


नेचुरल एंटीसेप्टिक
लौंग व इसके तेल में कई एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जिससे फंगल इंफेक्शन, कटने, जलने, घाव या त्वचा संबंधी अन्य समस्याओं के इलाज में इसका उपयोग किया जाता है. बता दें कि लौंग के तेल को कभी भी सीधे त्वचा पर नहीं लगाना चाहिए बल्कि किसी तेल में मिलाकर लगाना चाहिए.


मच्छरों को भगाने में भी लाभकारी
वहीं लौंग का इस्तेमाल मच्छरों को भी दूर भगाने के लिए भी किया जाता है. लौंग के तेल की महक से मच्छर दूर भाग जाते हैं. मच्छरों को दूर भगाने के लिए लौंग के तेल में नारियल तेल मिलाकर उसे अपनी त्वचा पर लगाएं. ये उपाय एक मॉस्किटो रिपेलेंट क्रीम की तरह काम करता है.


प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार
इतना ही नहीं, लौंग का सेवन शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाता है. ब्लड शुद्ध करता है. इसका इस्तेमाल मलेरिया, हैजा जैसे रोगों के उपचार की दवाओं में भी किया जाता है. डायबिटीज में लौंग के सेवन से ग्लूकोज का स्तर कम होता है.


मुंह की दुर्गेंध से मिलेगी निजात


मुंह की दुर्गेंध से परेशान है, तो लौंग का सेवन आपकी इस परेशानी को खत्म कर देगा. एक लौंग नियमित लें. धीरे-धीरे मुंह की दुर्गेंध से छुटकारा मिल जाएंगा.

Leave a Reply