भारत बंद – 8 दिसंबर को भारत बंद जानिए पुरी खबर

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान आंदोलन तेज करने की तैयारी में हैं. किसानों ने आठ दिसंबर को भारत बंद का एलान किया है. किसानों ने अब केंद्र सरकार खिलाफ भी अपना रुख तेज कर लिया है. किसानों ने कल देशभर में प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंकने का भी एलान किया.


आज सिंघु बॉर्डर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करने आए किसानों ने कहा कि एमएसपी पर सरकार से बात चल रही है लेकिन हम तीनों कानून वापस करवा कर रहे हैं. किसान नेता ने कहा, ”हम आंदोलन और तेज करेंगे. आठ दिसंबर को भारत बंद रहेगा, सभी टोल प्लाजा भी बंद करवाएंगे. इसके साथ ही दिल्ली आने वाले सभी रास्ते भी बंद किए जाएंगे.


आंदोलन कर रहे किसान नेताओं ने कहा कि आज तमिलनाडु में और कर्नाटक में हमारा प्रदर्शन था. अब इन किसानों को भी दिल्ली आने को बोल दिया. उन्होंने कहा कि पूरे देश के किसानों को दिल्ली आने का आह्वान किया. लड़ाई आर पार की होगी. पीछे हटने का सवाल ही नहीं उठता.


किसान नेता ने कहा कि कोरपोरेट फ़ार्मिंग किसान को मंज़ूर नहीं. हम डेडलाइन नहीं दे रहे हम सरकार को बता रहे हैं स्थिति ऐसे ही रही तो हर राज्य से और जत्थे दिल्ली लाए जाएंगे. हम विश्वास नहीं रखते लेकिन लोगों में सरकार के प्रति ग़ुस्सा बहुत है.


किसान नेताओं ने कहा, “कर्नाटक में 7 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक विधानसभा के बाहर किसानों का धरना होगा. बंगाल में रास्ता रोको आंदोलन होगा. किसी सरकार में हिम्मत नहीं कि इस आंदोलन के आगे टिक जाए .”


सरकार के साथ कल होनी है अगले दौर की बातचीत
सरकार और किसानों के बीच कल करीब सात घंटे तक बैठक चली. शनिवार को एक बार फिर बैठक होगी. सरकार के साथ बैठक के बाद किसानों ने कहा था कि हमारा आंदोलन जारी रहेगा हम सरकार के प्रस्ताव से सहमत नहीं हैं.


वहीं बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि किसानों के साथ फिर से एक बार फिर बैठक होगी ताकि और ज़्यादा सफ़ाई के साथ बैठे. किसानो ने कहा MSP पर पूरे देश में एक ठोस क़ानून हो अगर MSP से नीचे कोई ख़रीदे तो उसपर क़ानूनी कार्यवाही का कड़ा प्रावधान हो. किसान नेता किसान अपना आंदोलन ख़त्म करे. सरकार का दरवाज़ा खुला है और मुद्दा व्यापक है हम फिर बैठक लेंगे.

Leave a Reply