प्रदेश के इस बड़े अस्पताल का लाइसेंस होगा निरस्त, करोना संक्रमित मरीज का इलाज करने से कर रहा था मना, शासन ने जारी किया नोटिस।

IMG-20210828-WA0014
IMG-20210828-WA0016
IMG-20210828-WA0017
C1FECB16-374E-4F72-88E4-3B97BA9DA4B7
previous arrow
next arrow

हमारे प्रदेश छत्तीसगढ़ में करोना  संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बड़ी तेजी से बढ़ता जा रहा है रोज ही 2500 से अधिक मरीज मिल रहे हैं स्थिति यह हो गई है कि सरकारी अस्पतालों में जगह नहीं है और प्राइवेट अस्पताल भी फुल होने लगे हैं स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों को भी इलाज करने को कहा था ताकि इस आपदा से जल्द से जल्द निपटा जा सके।

 

मामला बिलासपुर के एक निजी अस्पताल आरबी अस्पताल का है। अस्पताल सर्व सुविधा युक्त 100 बिस्तरों का अस्पताल है। इस अस्पताल में करोना संक्रमित मरीजों का इलाज करने से साफ मना कर दिया। यही नहीं अस्पताल प्रबंधक ने अस्पताल में बेड भी नहीं देने की बात कही।

प्रशासन ने यह भी कहा था कि प्रत्येक करोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अस्पताल प्रबंधक को पैसे भी दिए जाएंगे लेकिन आर बी अस्पताल में मामले को गंभीरता से नहीं लिया।

 

 

प्रशासन ने महामारी के समय में सरकार के आदेश की अवहेलना को गंभीरता से लेते हुए आरबी अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करने का फरमान निकाल दिया है उन्हें 30 दिन का नोटिस दिया गया है।

 

Leave a Reply