नवकार पब्लिक स्कूल राजिम के शिक्षकों के साथ ज़्यादती, आई भूखे मरने की नौबत। जानिए पूरी जानकारी।

IMG-20201021-WA0005
IMG-20201021-WA0005
previous arrow
next arrow

हर इंसान के जीवन में शिक्षक का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है। हमारे भविष्य की नींव शिक्षक ही रखता है। एक सफल आदमी के जीवन में उसकी सफलता में सबसे अधिक योगदान उसके शिक्षक का होता है।

लेकिन आजकल शिक्षकों की आर्थिक स्थिति बद से बदतर होती जा रही है कहने को तो बड़े-बड़े प्राइवेट स्कूल हैं जो लाखों रुपए फीस लेते हैं लेकिन शिक्षकों को उसके अनुरूप मानदेय नहीं मिलता है।


ऐसा एक मामला सामने आया है राजिम नवापारा के नवकार पब्लिक स्कूल का इस स्कूल के शिक्षकों को समय पर मानदेय नहीं मिल रहा है लॉकडाउन के समय मई, जून जुलाई में भी इन्हें पूरा मानदेय नहीं मिला है इन्हें 30% मानदेय पर काम करने कहा जा रहा है नवकार पब्लिक स्कूल के शिक्षकों से आज बात हुई तो उन्होंने बताया कि स्कूल में बहुत सी अव्यवस्था हैं शिक्षकों के लिए वॉशरूम तक नहीं है पीने के पानी की भी पर्याप्त व्यवस्था नहीं है इसी संबंध में वहां के शिक्षकों ने अभनपुर के डीओ को ज्ञापन सौंपा है उसके बाद वह रायपुर आए और रायपुर में भी ज्ञापन सौंपा उन्होंने बताया कि उनके स्कूल में उनको मानदेय बहुत कम दिया जाता है कई शिक्षकों को तो 2000 से 3000 के आसपास मानदेय दिया जाता है जो वहां काम करने वाली आया बाई की तनख्वाह से भी कम है, और स्कूल प्रशासन द्वारा कहा जा रहा है कि 30% मानदेय पर काम करें ऐसे में आप खुद ही सोचिए कुल कुल मानदेय 2500 रुपए और स्कूल प्रशासन 30% ही देने को बोल रहा है, 30% मानदेय में कोई कैसे अपना घर चला सकता है। शिक्षकों ने यह भी बताया कि उन्हें जून 2019 का भी मानदेय नहीं दिया गया है, यह जानकारी वहां के शिक्षकों के द्वारा दी गई है।


शिक्षकों ने यह भी बताया कि उन्हें EPF और ESIC भी नहीं दिया जाता है इससे भविष्य में उनके और उनके परिवार पर संकट आ सकता है। इसके संबंध में उन्होंने DO को आवेदन भी दिया है।

 

 

 

 

Leave a Reply